संकल्प


कर रहा आज सखे संकल्प । 
बना है साक्षी मनु का कल्प ।।
करूँगा हिंदी का व्यवहार । 
रचूँगा अभिव्यक्ति का सार ।।
हमारी भाषा का सम्मान । 
वतन की उन्नति का अभियान ।।
समझने में है यह आसान । 
बढ़ाती सब विषयों का ज्ञान ।।
सभी भाषाओं का है सार । 
जगत मिल करके करे प्रचार ।। 

राज वीर सिंह 
तरौंदा कानपुर देहात 

0 comments:

Post a Comment